Contact Information

Logix Technova B-511
Sector-132, Noida

We Are Available 24/ 7. Call Now.

New Delhi: पिछले चार महीनों से सुशांत सिंह राजपूत और दिशा सलियन की मौ’त न केवल आम जनता के लिए, बल्कि जाँच टीमों के लिए भी एक रहस्यमय मामला बन कर रह गया है। जब से दिशा और सुशांत 8 जून और 14 जून को रहस्यमय स्थिति में मृ’त पाए गए है, तब से ही इन केस को लेकर कई तरह के थ्योरिज सामने आ रही हैं। हर कोई इस बारे में अपनी राय दे रहा है कि उनके साथ ऐसा क्या हुआ, जो उन्होंने ये कदम उठाया है। वहीं जब से CBI सुशांत और दिशा की मौ’त के मामलों की जांच कर रही है। इसी बीच एक खबर में यह है कि मुंबई पुलिस ने सुशांत और दिशा की मौ’त के मामले के बारे में फर्जी न्यूज फैलाने के लिए दिल्ली के एक वकील विभोर आनंद को गिरफ्तार किया है।

NDTV में छपी एक खबर की रिपोर्ट के अनुसार, विभोर ने फर्जी साजिश की थ्योरी को मनगढ़ंत तरीके से बुनते हुए इन मामलों को लेकर कई तरह सनसनीखेज और मानहानि के आरोप लगाए थे। उन्होंने दावा किया था कि मौत से पहले दिशा के साथ ब’ला’त्कार किया गया था, इसके साथ ही उन्होंने ये तक ​कहा कि इस मामले में कई प्रमुख हस्तियों के नाम सामने आएगे। वहीं अब सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के दिशानिर्देशों का उ’ल्लंघ’न करने के लिए उनका ट्विटर अकाउंट स’स्पेंड कर दिया गया है। हाल ही में विभोर को सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम सहित कानून की धाराओं के तहत बुक किया गया है और मुंबई लाया गया है।

यह बताया गया है कि आरोपियों ने न केवल मौ’त के मामलों में फर्जी थ्योरी को फैलाया, बल्कि महाराष्ट्र सरकार को बदनाम करने के प्रयास भी किया है। उसी के बारे में बात करते हुए, मुंबई के पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह ने कहा कि “मीडिया में एक फर्जी कथा शुरू हुई कि मुंबई पुलिस ने बहुत बुरा काम किया- हमने बहुत दुर्व्यवहार का सामना किया। हम हमेशा से अपनी जांच के बारे में सुनिश्चित थे।”

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *