Contact Information

Logix Technova B-511
Sector-132, Noida

We Are Available 24/ 7. Call Now.

New Delhi : मुंबई के नागरिक निकाय BMC और उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार पर एक बार फिर एक्ट्रेस कंगना रनौत का गुस्सा फुटा है। BMC पर अपना गुस्सा निकालने के लिए कंगना ने ट्वीटर का सहारा लिया है। बता दें कि कंगना ने ट्वीटर पर एक न्यूज पेपर की लिंक पर रिएक्शन दिया है। इस न्यूज से पता चलता है कि BMC ने अपने खिलाफ चल रहे डिमोलाइजेशन मामले में सीनियर अडवोकेट अस्पी चिनॉय की लीगल फीस देने के लिए 82 लाख रुपये खर्चा किया हैं। जानकारी के लिए बता दें कि BMC ने मुंबई के बांद्रा में बने कंगना के आलीशान ऑफिस कोअवैध निर्माण के तहत वर्गीकृत करते हुए आंशिक रूप से तोड़ कर रख दिया था।

BMC की तरफ से की गई इस हरकत के बाद कंगना ने इंसाफ के लिए अदालत का रुख किया और कहा कि उन्हें इस मामले पर रिस्पोन्स देने के लिए पर्याप्त समय नहीं दिया गया है। बल्कि अदालत ने भी BMC के इस फैसले को ‘जल्दबाजी’ कहा और उनके इरादों को ‘दुर्भावनापूर्ण’ करार दिया था। वहीं अब महाराष्ट्र टाइम्स की नई न्यूज रिपोर्ट के अनुसार, हाल ही में BMC ने कंगना के खिलाफ अपनी इस कानूनी लड़ाई में एक बहुत ही बड़ा खर्च किया है। न्यूज रिपोर्ट से पता चला कि 22 सितंबर को नागरिक निकाय BMC ने 22.50 लाख रुपये खर्च किए थे। इसके बाद 7 अक्टूबर को बड़े पैमाने पर 60 लाख रुपये खर्च किए गए, इन दोनों अमाउंट को मिलकर कुल 82.50 लाख रुपये होते है।

इसी पर प्रतिक्रिया देते हुए, कंगना ने सरकार पर कटाक्ष किया और इस काम को ‘बहुत दुर्भाग्यपूर्ण’ बताया। कंगना ने ट्वीट करते हुए कहा कि, “मुन्सीपल कॉरपोरेशन ने मेरे घर को अवैध रूप से तोड़ के लिए वकील पर 82 लाख रुपये खर्च किए है, पापा के पप्पू एक लड़की को चिढ़ाने के लिए जनता का पैसा खर्च करता है। यह वह जगह है जहां आज महाराष्ट्र खड़ा है, बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है।”

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *