Contact Information

Logix Technova B-511
Sector-132, Noida

We Are Available 24/ 7. Call Now.

New Delhi : बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की बहन प्रियंका सिंह और मीतू सिंह के लिए अब हालात काफी ज्यादा खराब होते दिखाई दे रहे है, ऐसे में सुशांत की बहने चाहती है कि बॉम्बे हाईकोर्ट में अपनी याचिका पर तत्काल सुनवाई की जाए। एक्टर की बहनों के खिलाफ दिवंगत सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती की तरफ से दायर दी गई FIR को कैंसिल करने के लिए प्रियंका सिंह और मीतू बॉम्बे हाइ कोर्ट में याचिका दायर की थी। जब अदालत की तरफ से ये पूछा गया है कि उनकी याचिका पर सुनवाई करने में क्या मतलब था, इसका जावब देते हुए एडवोकेट माधव थोराट ने अदालत से कहा कि चूंकि बहनों के खिलाफ पहले से ही FIR दर्ज की गई है, इसलिए उन्हें डर है कि उन्हें CBI किसी भी समय गिरफ्तार कर सकती है।

इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के अनुसार, प्रियंका और मीटू अपनी याचिका में एक अंतरिम राहत भी मांग कर रहे हैं ताकि उनके खिलाफ कोई बड़ा कदम न उठाया जा सके। जानकारी के लिए बता दें कि रिया ने सितंबर में सुशांत की इन दोनो बहनों के खिलाफ एक FIR दर्ज करवाई थी, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया गया था कि उन्होंने 8 जून 2020 को सुशांत के अपार्टमेंट से बाहर निकलने के बाद दिल्ली में एक निश्चित डॉ. तरुण कुमार की मदद से एक गलत प्रीकोशन के जरिए से सुशांत को दवाइयां दीं। रिया ने अपनी FIR में आरोप लगाया कि इन दवाईयों की खुराक और मात्रा की देखरेख के बिना बहनों ने अपने भाई सुशांत को दीं है, जिसके परिणामस्वरूप सुशांत को आत्महत्या के लिए एक अनेक्सडी का दौरा पड़ सकता है। इस FIR को बांद्रा पुलिस की ओर से दर्ज किया गया था। जिसके बाद में ये केस CBI को ट्रांसफर कर दिया गया था।

वहीं दूसरी तरफ, रिया के वकील सतीश मनेशिंदे ने सुशांत की बहनों की याचिका पर जवाब दाखिल किया और कहा कि “सुशांत मुंबई, महाराष्ट्र में रहते थे, ना कि नई दिल्ली रहते थे। यह भी आश्चर्य की बात है कि डॉ. तरुण कुमार ने कार्डियोलॉजिस्ट होने के नाते यह सोचा कि यह एक ऐसे व्यक्ति को दवाइयां देने के लिए उपयुक्त है जिसे वह जानते ही नहीं थे और साइकोट्रोपिक पदार्थों से कभी नहीं मिलाया था। इस बीच, अदालत ने अनिल सिंह, CBI और मुंबई पुलिस का प्रतिनिधित्व करने वाले एक और सॉलिसिटर जनरल को आज, 28 अक्टूबर तक अपना जवाब दाखिल करने के लिए कहा गया है। अदालत ने याचिका पर सुनवाई की तारीख 4 नवंबर तक कर दी है।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *